Sanskar

काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा पिनाक भवन से, प्रवेश से पहले हुआ हवन पूजन

काशी: काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा व्यवस्था के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस भवन का निर्माण कर दिया गया है। इस भवन का नाम भगवान शंकर के धनुष के नाम पर रखा गया है। बता दें की इस भवन को नवरात्रि के दूसरे दिन यानी मंगलवार को हवन पूजन के साथ उद्घाटन किया गया। नवनिर्मित इस भवन का नाम ‘पिनाक भवन' जहाँ से पूरे काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। विश्वनाथ धाम में लगे 400 कैमरे की मानिटरिंग इस भवन से की जाएगी। हवन और पूजन के बाद इस भवन को आधिकारिक तौर संचालित कर दिया गया है।

इस मंदिर के निर्माण के पीछे का कारण काशी विश्वनाथ धाम में बढ़ रही श्रध्दालुओं की भीड़ है। बता दें की इस भवन में उद्घाटन के बाद उपकरणों की शिफ़्टिंग कर ली गई है और आज से सुरक्षा एजेन्सियों द्वारा काम करना शुरू भी कर दिया गया है। इस भवन में इंटिग्रेटेड कमांड कंट्रोल सिस्टम (आईसीसीएस) भी लगाया गया है जिसके द्वारा भवन में लगे 400 कैमरों को जोड़ा गया है। इस भवन को चार मंज़िला बनाया गया जिसमें कुल 36 कमरे बनाए गए हैं। 36 कमरों के अलावा यहाँ एक बड़ा सा सभागार भी बनाया गया है।

काशी विश्वनाथ धाम के पिनाक भवन में लगने वाली आग के मद्देनज़र अत्यधुनिक फायर फाइटिंग उपकरण भी लगाए गए हैं। मंदिर में करीब डेढ़ लाख लीटर का वाटर टैंक है। पूरे परिसर में 96 फायर हाइड्रेंट लगे हैं। जिसमें एक्सटर्नल 41 और इंटरनल 55 फायर हाइड्रेंट और 494 स्मोक डिटेक्टर, 46 हीट डिटेक्टर और अलग-अलग तरह के करीब 224 फायर एक्सटिंग्विशर भी परिसर में लगे हैं। पिनाक भवन के बनाए गए 36 कमरों में पुलिस, सीआरपीएफ, पीएसी, बम स्क्वायड, एलआईयू सहित सभी विंग के लिए अलग अलग व्यवस्था की गई है। बता दें की यह बहवाँ पूरी तरह से वाताअनुकूलित है जहाँ फर्नीचर से लेकर हर एक सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

Related News