Sanskar

अगले 5 साल में पर्यटन को लगेंगे पंख और विकास नई सुविधाएं

गोरखपुर:  यूपी का गोरखपुर हमेशा से ही पर्यटन के लिहाजे से गढ़ रहा है। पूर्वांचल क्षेत्र में बनारस के बाद यह शहर सबसे प्रमुख है। पर्यटन विभाग ने अगले पांच साल में वैश्विक स्तर की सुविधाएं से युक्त करने का लक्ष्य रखा है। उनका लक्ष्य है कि आने वाले समय में गोरखपुर की चमक ग्लोबल मैप पर हो। गोरखपुर शुरू से ही धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत से युक्त रहा है। यहां स्थित गोरखपुर मंदिर और मकर संक्रान्ति पर लगने वाला खिचड़ी मेला जग प्रसिद्ध है। पर कुछ वर्ष पहले तक यहां ऐसी कोई जगह नहीं थी जो पर्यटकों को लुभा सके। कुछ पर्यटक गोरखनाथ मंदिर का दीदार करने मात्र ही आया करते थे पर इसके अलावा भी कई स्थान थे जो पर्यटन के लिहाज से भरपूर थे।  1700 एकड़ में फैली रामगढ़ ताल की पहचान कुछ वर्ष पहले गंदगी से होती थी लेकिन अब इसकी पहचान ख़ूबसूरती से है। सेल्फ़ी पॉइंट, लेक व्यू पॉइंट और नौकायन केंद्र अब इसकी ख़ूबसूरती बढ़ाते हैं। यहाँ पर होने वाले साउंड और लाइट शो भी पर्यटकों का मन मोह लेते हैं। यहां आने वाले पर्यटकों को डबल डेकर बोट और कयाकिंग का भी आनंद उठाते हैं।आने वाले अगले पांच साल में इस शहर को पर्यटन के लिहाजे से पंख लगने वाले हैं।  

Related News